राष्ट्रीय

कोरोना के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रोन’ के खतरे को लेकर WHO ने दुनिया को चेताया, भारत अलर्ट, जानें- किन किन देशों ने यात्रा पर लगाया प्रतिबंध

भारत में अब तक दक्षिण अफ्रीका से फैले ओमिक्रोन वेरिएंट का कोई मामला सामने नहीं आया है. लेकिन इसे बेहद गंभीरता से लिया जाना जरूरी है. नए वेरिएंट को लेकर सरकार की ओर से अहम बैठक बुलाई गई है. माना जा रहा है कि इस बैठक में उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार भी हो सकता है. कोरोना की पहली और दूसरी लहर झेल चुके भारत में संक्रमण फिलहाल काबू में है. वैक्सीनेशन की रफ्तार भी लगातार बढ़ रही है.

ओमिक्रोन दक्षिण अफ्रीका से निकल कर कई देशों में फैल गया है. नया वेरिएंट दक्षिण अफ्रीका में कई हफ्तों से फैल रहा था अब WHO ने भी इसे खतरनाक माना है. ये वेरिएंट अफ्रीकी देश दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना पहुंच चुका है. एशिया के देश हॉन्ग कॉन्ग में भी केस मिल गए हैं. मिडिल ईस्ट के इजरायल और यूरोप के बेल्जियम में भी ओमिक्रोन पहुंच चुका है.

किन-किन देशों ने लगाए प्रतिबंध?

कोरोना के नए वेरिएंट ने पूरी दुनिया को फिर से सोचने पर मजबूर कर दिया है. तमाम देश अभी तक दक्षिण अफ्रीका की यात्रा पर प्रतिबंध लगा चुके हैं. ऐसे देशों में इटली, ऑस्ट्रिया, फ्रांस, जापान, यूनाइटेड किंगडम, सिंगापुर, नीदरलैंड, माल्टा, मलेशिया, मोरक्को, फिलीपींस, दुबई, जॉर्डन, अमेरिका, कनाडा और तुर्की शामिल हैं.

केंद्र सरकार हुई चौकन्नी

वहीं तीसरी लहर की आहट के बीच पिछले 4-5 दिनों में ही तमिलनाडु, तेलंगाना, कर्नाटक, ओडिशा, उत्तराखंड, राजस्थान और पंजाब जैसे राज्यों से कोरोना विस्फोट के जो मामले सामने आए हैं. उसे देखते हुए केंद्र सरकार पूरी तरह चौकन्नी हो गई है. कोरोना के नये वैरिएंट वाले देशों से फ्लाइट्स पर बैन लगाने या 14 दिन का क्वारंटीन करने को लेकर आज डीजीसीए की बैठक होने जा रही है. बैठक में हॉन्गकॉन्ग, यूरोप या दक्षिण अफ्रीका देशों से आने वाली फ्लाइट्स पर बैन लगाने पर विचार होगा.

बता दें कि सरकार की ओर से जो भी महत्वपूर्ण कदम है उठाए जा रहे हैं ऐसे में हमें खुद की सुरक्षा का ख्याल रखना होगा. ऐसे में ध्यान देने वाली बात ये है कि सामाजिक दूरी और मास्क अब भी कोरोना से लड़ने का सबसे बड़ा हथियार है. तो कोरोना से बचने के लिए इन सभी उपायों को अपनाते रहें और कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करते रहें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close