राष्ट्रीय

कंगना ने गांधी जी को बताया सत्ता का भूखा और चालाक, जयपुर में शिकायत दर्ज

अभिनेत्री कंगना रनौत के बोल फिर बिगड़ गए हैं. इस बार कंगना ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर निशाना साधा है. कंगना ने सोशल साइट इंस्टाग्राम पर दो लंबे मैसेज किए हैं. एक मैसेज में अखबार की एक पुरानी कटिंग लगाते कंगना ने लिखा है, ”या तो आप गांधी के फैन हो सकते हैं या नेताजी के समर्थक. आप दोनों नहीं हो सकते. चुनें और फैसला करें.” कंगना ने इंस्टाग्राम स्टोरीज में जो संदेश लिखा है उसमें बापू को सत्ता का भूखा और चालाक बताने तक की हिमाकत कर दी. इससे पहले कंगना ने भारत को मिली आजादी को भीख कहा था. अब कंगना के खिलाफ राजस्थान की राजधानी जयपुर में कांग्रेस नेता ने शिकायत दर्ज कराई है.

गांधी जी को लेकर कंगना ने क्या लिखा?

कंगना ने लिखा- ”स्वतंत्रता के लिए लड़ने वालों को उन लोगों ने अपने मालिकों को सौंप दिया, जिनमें अपने ऊपर अत्याचार करने वालों से लड़ने की ना तो हिम्मत थी ना ही खून में उबाल. ये सत्ता के भूखे और चालाक लोग थे. ये वही थे जिन्होंने हमें सिखाया अगर कोई तुम्हें एक गाल पर थप्पड़ मारे तो उसके आगे दूसरा गाल कर दो और इस तरह तुमको आजादी मिल जाएगी. इस तरह से आजादी नहीं सिर्फ भीख मिलती है. अपने हीरो समझदारी से चुनें.”

दूसरे पोस्ट में कंगना ने क्या लिखा?

अपने दूसरे पोस्ट में कंगना रानौत ने लोगों को इतिहास के बारे में जानने की सीख देते हुए लिखा कि गांधी जी चाहते थे भगत सिंह को फांसी हो. कंगना ने लिखा, ”गांधी ने कभी भगत सिंह और नेताजी को सपोर्ट नहीं किया. कई सबूत हैं जो इशारा करते हैं कि गांधीजी चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो जाए. इसलिए आपको चुनना है कि आप किसके समर्थन में हैं, क्योंकि उन सबको अपनी यादों में एक साथ रख लेना और हर साल उनकी जयंती पर याद कर लेना ही काफी नहीं है. सच कहें तो ये महज मूर्खता नहीं बल्कि बेहद गैरजिम्मेदाराना और सतही है. लोगों को अपना इतिहास और अपने हीरो पता होने चाहिए.”

अभी तक आजादी के साल को लेकर डिबेट कर रहीं कंगना पर वैसे ही कई FIR दर्ज हो चुके हैं. पद्मश्री पुरस्कार पाने के बाद कंगना ने हिंदुस्तान, उसके इतिहास उसकी आजादी को लेकर जो लगातार बयान दिए हैं, वैसा अगर वो किसी और देश में करतीं तो शायद इतिहास की समझ आ जाती, लेकिन कंगना ऐसे बयान देने, ऐसी टिप्पणियां करने के बाद भी हिंदुस्तान में चैन से रह सकती हैं, क्योंकि गांधी जी ने ही कहा था कि अगर कोई एक गाल पर थप्पड़ मारे तो दूसरा गाल आगे कर दो.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close