राष्ट्रीय

राजधानी में फूटा कोरोना बम, दिल्ली पुलिस के पीआरओ समेत 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी कोविड-19 पॉजिटिव

ओमिक्रोन के खतरे के बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ्तार अब पूरी तरह से बेकाबू हो चुकी है. कोविड-19 की रोकथाम के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से लगाए गए नाइट कर्फ्यू और वीकेंड कर्फ्यू के बाद भी इसकी रफ्तार पर कोई खास असर होता हुआ नहीं दिख रहा है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने बताया कि पीआरओ और एडिशनल कमिश्नर चिन्मय बिस्वाल समेत करीब 300 से भी ज्यादा पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

इससे एक दिन पहले, यानी रविवार शाम दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में 22 हजार 751 नए कोरोना केस सामने आए. जिसके बाद कोरोना से संक्रमित होने वालों की कुल संख्या 15 लाख 49 हजार 730 हो गई है. वहीं दिल्ली में इस दौरान कोरोना संक्रमित 17 मरीजों की जान भी चली गई है. इसके साथ ही मौतों का आंकड़ा अब 25 हजार 160 तक जा पहुंचा है.

दिल्ली में लगातार बढ़ते जा रहे कोरोना के मामले

दिल्ली में अभी पॉजिटिविटी रेट 23.53 फीसदी है. वहीं पिछले 24 घंटों में 10 हजार 179 लोग ठीक भी हुए हैं. दिल्ली में इस समय कोरोना के 60 हजार 733 एक्टिव केस हैं. गौरतलब है कि शनिवार को कोरोना के संक्रमण के 20 हजार 181 नए मामले सामने आए थे. दिल्ली में अब कोरोना से मौत का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है. दिल्ली सरकार द्वारा रविवार को जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कोरोना से 17 लोगों की मौत हुई है. वहीं इससे पहले शनिवार को कोरोना से सात लोगों की मौत हुई थी.

16 जून के बाद ये मौत का सबसे बड़ा आंकड़ा है, इससे पहले 16 जून को 25 लोगों की कोरोना से मौत हुई थी. हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में रविवार को पिछले 24 घंटे में 22, 751 नए कोरोना मामले सामने आये हैं जो करीब 8 महीने में सबसे ज्यादा मामले हैं, इससे पहले एक मई को 25,219 मामले सामने आये थे और इसके साथ ही दिल्ली में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या अब 60,733 तक पंहुच गयी है.

सीएम केजरीवाल ने कहा- घबराने की नहीं जरूरत

इससे पहले रविवार की दोपहर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि मौत के आंकड़ों को देखकर घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि कल करीब 20 हजार केस आये थे और इससे पहले 7 मई को इतने ज्यादा केस आ चुके हैं. केजरीवाल ने कहा कि तब और अब में तुलना की जाये तो उस दौरान 341 मौतें हुयी थी लेकिन कल इतने मामलों पर सात मौते ही हुई हैं.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि अस्पताल में तब 20 हजार बेड भर गये थे लेकिन अभी डेढ़ हजार के आसपास बेड ही अस्पतालों में भरे हैं. लेकिन इस दौरान सावधानी जरूर बरतें, मास्क जरूर पहने. केजरीवाल ने कहा कि ये जानकारी इसलिये दे रहा हूं ताकि आप घबरायें नहीं, स्थिति अभी कंट्रोल में है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close