राष्ट्रीय

नए साल में नए रंग में दिखेगी रामनगरी, मार्च तक मिलेगा नया रेलवे स्‍टेशन, राम मंदिर जैसा है डिजाइन

अयोध्‍या : रामनगरी अयोध्‍या में राम मंदिर के निर्माण की घोषणा के बाद से ही यहां श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला बना हुआ है। लोगों की बढ़ती आमद को देखते हुए यहां भव्य रेलवे स्‍टेशन का पुनर्विकास किया जा रहा है, जो जल्‍द ही आम लोगों के लिए खुल जाएगा। भारतीय रेल द्वारा तकरीबन 104.77 करोड़ की लागत से अयोध्या स्टेशन का कायाकल्प किया जा रहा है, जिसके मार्च 2022 तक पूरा हो जाने का अनुमान है। एक बार आम लोगों के लिए खुल जाने के बाद रामनगरी का यह रेलवे स्‍टेशन न केवल श्रद्धालुओं को बेहतर संपर्क मुहैया कराएगा, बल्कि अयोध्‍या में आकर्षण के प्रमुख केंद्रों में होगा।

अयोध्‍या में इस रेलवे स्‍टेशन के कायाकल्‍प की दिशा में चल रहे प्रयासों के साथ-साथ मुख्‍य स्‍टेशन और दो फुटओवर ब्रिज को नए सिरे से विकसित करने की दिशा में भी काम हो रहा है, जिसे दिसंबर 2022 तक पूरा कर लिए जाने की संभावना है। इसके अतिरिक्‍त राम नगरी को सड़क मार्ग से भी बेहतर तरीके से जोड़ने की दिशा में काम हो रहा है, जिसके लिए 14,640 वर्ग मीटर भूमि की आवश्‍यकता होगी। यह काम अगले साल के आखिर तक पूरा कर लिए जाने की संभावना है।

अयोध्‍या तक बेहतर होगा संपर्क
अयोध्‍या में एक बार इस रेलवे स्‍टेशन के कायाकल्‍प का काम पूरा होने और इसे आम लोगों के लिए खोले जाने के बाद अधिकतर ट्रेनों को इसी मार्ग से जोड़े जाने की संभावना है। साथ ही अयोध्‍या कैंटोनमेंट रेलवे स्‍टेशन से निकलने वाली ट्रेनों को भी नए स्‍टेशन पर डायवर्ट किया जा सकता है। इस समय सीधे अयोध्‍या तक छह ट्रेनें रोजाना चलती हैं, जबकि 14 मेल/एक्‍सप्रेस ट्रेनों का यहां ठहराव है, जिनके जरिये बड़ी संख्‍या में श्रद्धालु रामलला के दर्शन के लिए यहां पहुंचते हैं।

अयोध्‍या रेलवे स्‍टेशन के कायाकल्‍प के लिए जो डिजाइन तैयार की गई है, वह यहां निर्माणाधीन राम मंदिर की संरचना से ही प्रेरित है, जिसमें एक मुख्‍य गुंबद के साथ-साथ चार स्‍तंभ भी होंगे। साथ ही भगवान श्रीराम की पहचान से जुड़े धनुष-वाण की चित्रकारी भी इसमें होगी। यहां उसी तरह के पत्‍थर का इस्तेमाल हो रहा है, जैसा कि मंदिर निर्माण के लिए किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close