राष्ट्रीय

भारतीय अंतरिक्ष संघ की आज शुरुआत करेंगे PM मोदी, स्पेस के दिग्गजों से होगी बात

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए भारतीय अंतरिक्ष संघ (ISpA) की शुरुआत करेंगे। इस मौके पर वह अंतरिक्ष क्षेत्र से जुड़ी दिग्गज हस्तियों से बातचीत करेंगे। यह कार्यक्रम सुबह 11 बजे होना निर्धारित है। पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम के बारे में जानकारी अपने ट्वीट के जरिए दी है। प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘कल 11 अक्टूबर की सुबह 11 बजे मैं भारतीय अंतरिक्ष संघ की शुरुआत से जुड़े कार्यक्रम में शामिल होऊंगा। अंतरिक्ष क्षेत्र की नामी-गिरामी हस्तियों से बातचीत का मौका पाकर मैं काफी खुश हूं। अंतरिक्ष एवं नवाचार में रुचि रखने वाले लोगों को इस कार्यक्रम को जरूर देखना चाहिए।’

पीएमओ की ओर से जारी हुआ बयान
प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि आईएसए अंतरिक्ष एवं सैटेलाइक कंपनियों का एक प्रमुख उद्योग संघ है जो कि भारतीय अंतरिक्ष उद्योग की एक सामूहिक आवाज बनेगा। यह संघ सरकारी एजेंसियों एवं सरकार सहित भारतीय अंतरिक्ष क्षेत्र के सभी हिस्सेदारों को एक साथ लाने एवं नीतियों के निर्माण में अहम भूमिका निभाएगा।

बयान में कहा गया है कि पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने के अनुरूप आईसपीए भारत को आत्मनिर्भर बनाने, तकनीकी रूप से आगे बढ़ाने एवं अंतरिक्ष क्षेत्र का अग्रणी देश बनाने में मदद करेगा।

आईएसपीए में कई दिग्गज कंपनियां शामिल
आईएसपीए के संस्थापक सदस्यों में लार्सन एवं टुब्रो, नेल्को (टाटा ग्रुप), वनवेब, भारती एयरटेल, मैपमायइंडिया, वालचंदनागर इंडस्ट्री, अनंत टेक्नॉलजी लिमिटेड शामिल हैं। इसके अन्य सदस्यों में गोदरेज, अजिस्टा-बीएसटी एरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड, बीईएल, सेंटम इलेक्ट्रानिक्स एंड मैक्सर इंडिया शुमार हैं।

बयान में कहा गया है कि पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत के सपने के अनुरूप आईसपीए भारत को आत्मनिर्भर बनाने, तकनीकी रूप से आगे बढ़ाने एवं अंतरिक्ष क्षेत्र का अग्रणी देश बनाने में मदद करेगा।

आईएसपीए में कई दिग्गज कंपनियां शामिल
आईएसपीए के संस्थापक सदस्यों में लार्सन एवं टुब्रो, नेल्को, वनवेब, भारती एयरटेल, मैपमायइंडिया, वालचंदनागर इंडस्ट्री, अनंत टेक्नॉलजी लिमिटेड शामिल हैं। इसके अन्य सदस्यों में गोदरेज, अजिस्टा-बीएसटी एरोस्पेस प्राइवेट लिमिटेड, बीईएल, सेंटम इलेक्ट्रानिक्स एंड मैक्सर इंडिया शुमार हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close