उत्तराखंड

नैनीताल की प्रेरणा ने कहा, बम धमाकों की आवाज सुन खत्म हो गई थी लौटने की उम्मीद

नैनीताल : Russia Ukraine News : जिस दिन रूसी सेना के यूक्रेन के शहरों पर हमले शुरू हुए, उस दिन इवानो में बम धमाकों की आवाज सुन ऐसा लगा कि अब शायद ही जिंदा घर लौट पाएंगे। मेडिकल कालेज की शिक्षिकाओं ने छिपने के लिए बंकर की लोकेशन बताई थी। निजी प्रयासों से बस बुक कर रोमानिया बार्डर पहुंचे तो बार्डर पार करते ही भारतीय दूतावास के अधिकारी मिल गए। रोमानिया सरकार की ओर से भी भोजन के पैकेट दिए गए। जब हम इवानो में फंसे थे तब भी खुशनसीब थे कि एक सप्ताह के लिए भोजन आदि का पूरा इंतजाम था।

यह कहना है नैनीताल के बड़ा बाजार मल्लीताल के व्यापारी प्रेम सिंह बिष्ट की यूक्रेन से स्वदेश लौटी बेटी प्रेरणा का। प्रेरणा ने जागरण से मोबाइल पर बातचीत मेें कहा कि एयरपोर्ट के बेसमेंट के समीप रूसी बम गिरे थे। शनिवार सुबह वह सहपाठियों संग बस से बार्डर की ओर निकल पड़े। बार्डर पर भीड़ बहुत है, वहां धक्का मुक्की हो रही है लेकिन बार्डर पार होते ही दूतावास के कर्मचारी रिसीव कर रहे हैं। वहां ब्रेड, चाय व सूप का इंतजाम किया गया था। बोली 11 किमी पैदल चले, बार्डर में ट्रैफिक बहुत है। उम्मीद नहीं थी, जिंदा लौटेंगे लेकिन सरकार के प्रयासों से सुरक्षित पहुंच गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close