उत्तराखंड

दून की इन वीआइपी सीटों पर गड़बड़ा सकता है गणित, गुणा-भाग में जुटे प्रत्याशी

देहरादून। Uttarakhand Vidhan Sabha Election 2022 दून जिले की तीन वीआइपी सीटों पर इस मत प्रतिशत के अंतर से राजनीतिक दलों एवं प्रत्याशियों का गणित गड़बड़ा सकता है। साल-2017 में संपन्न चुनाव के मुकाबले मसूरी सीट पर इस बार मतदान का प्रतिशत बढ़ा है जबकि शेष दो सीट ऋषिकेश एवं चकराता पर कम हुआ है। भले उत्तराखंड राज्य बनने के बाद चकराता सीट कांग्रेस के पक्ष में रही हो, पर चकराता सीट पर इस बार करीब साढ़े पांच फीसद के अंतर प्रत्याशियों एवं पार्टियों की चिंता बढ़ा रहा है। अब यह तो परिणाम ही बताएंगे कि मत प्रतिशत घटने और बढ़ने से किसे लाभ हुआ, लेकिन सियासी दल इस अंतर के अलग-अलग निहितार्थ निकाल रहे हैं।

जिले की तीन वीआइपी सीट ऋषिकेश, मसूरी व चकराता में दिग्गजों की साख दांव पर लगी हुई है। कांग्रेस, ऋषिकेश व मसूरी सीट अपनी झोली में करना चाह रही है तो भाजपा उक्त दोनों सीटों को बचाने के साथ ही चकराता सीट पर जीत का स्वाद चखना चाह रही। ऋषिकेश सीट पर भाजपा ने फिर से प्रेमचंद अग्रवाल जबकि मसूरी से गणेश जोशी को मैदान में उतारा हुआ है। दोनों ही मौजूदा सरकार में ऊंचे पदों पर आसीन रहे हैं। अग्रवाल विधानसभा अध्यक्ष एवं जोशी कैबिनेट मंत्री रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close