राष्ट्रीय

Republic Day: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के चप्पे-चप्पे पर चौकसी, आज ही होगा वीरता पुरस्कारों का ऐलान, राष्ट्रपति करेंगे देश को संबोधित

गणतंत्र दिवस समारोह पर मंडराते आतंकी खतरे को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने तैयारियां पूरी कर ली हैं. विजय चौक से लेकर लालकिले तक के परेड के रास्ते को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. गणतंत्र दिवस समारोह की सुरक्षा के लिए ही करीब 30 हजार जवानों को तैनाती की गई है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद देश के 73वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर यानी कि आज शाम राष्ट्र को संबोधित करेंगे.

गणतंत्र दिवस के खास मौके पर हर साल वीरता पुरस्कारों की घोषणा की जाती है. इस बार भी इसका ऐलान कर दिया गया है. देश की सुरक्षा में अदम्य साहस का प्रदर्शन कर सर्वोच्च बलिदान देने वाले वीर जवानों को हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर वीरता पुरस्कार  से सम्मानित किया जाता है. गणतंत्र दिवस 2022 के अवसर पर वीरता पुरस्कार से जवानों को सम्मानित किया जाएगा. इसकी सूची मंगलवार को जारी की जा सकती है.

‘वीरता पुरस्कार’ के अलावा पद्म पुरस्कारों जिनमें पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री पुरस्कार देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मानों में से एक हैं इनका एलान भी आज संभवत: हो जाएगा. ये पुरस्‍कार भारत सरकार द्वारा हर साल भारतीय नागरिकों को उनके असाधारण कार्यों के लिए प्रदान किए जाते हैं. पद्म पुरस्कार देने की शुरुआत साल 1954 में की गई थी.

दिल्ली पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, मेट्रो, बस समेत ट्रैकिफ में बदलाव

गणतंत्र दिवस की परेड 26 जनवरी की सुबह 10.20 बजे विजय चौक से शुरू होगी. ऐहतियातन राजपथ पर विजय चौक से इंडिया गेट तक मंगलवार (25 जनवरी) की शाम 6 बजे से ही ट्रैफिक पूरी तरह रोक दिया जाएगा. इसके अलावा रफी मार्ग, जनपथ, मान सिंह मार्ग रोड तक भी रात 11 बजे के बाद कोई नहीं जा सकेगा. ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से अपील की है कि 26 जनवरी को रात 2 बजे से लेकर दोपहर 12.30 बजे तक परेड के रास्‍ते पर जाने से बचें. गणतंत्र दिवस परेड के लिए ही दिल्ली पुलिस व अन्य एजेंसियों के अधिकारियों के अलावा करीब 30 हजार से ज्यादा जवान तैनात रहेंगे. इन सबकी सहायता के लिए अर्द्धसैनिक बलों की 65 कंपनियां भी तैनात रहेंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close