उत्तराखंड

प्रियंका गांधी के वादे का असर उत्‍तराखंड में भी, कांग्रेस से 78 महिलाओं ने मांगा टिकट

हल्द्वानी : कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी में नारा दिया। लड़की हूं लड़ सकती हूं। पड़ोसी राज्य होने के नाते इसका असर उत्तराखंड में देखने को भी मिल रहा हूं। फिलहाल 78 महिलाओं ने अलग-अलग सीटों पर दावेदारी ठोंकी है। और अब पार्टी हाइकमान को तय करना है कि इनमें से कितनी लड़ सकती हैं। कांग्रेस की महिला प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य खुद नैनीताल सीट से दावेदार हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस ने आठ महिला उम्मीदवार उतारे थे। जिसमें से दो जीतने में कामयाब रहे। और पांच सीट पर दूसरे नंबर पर रही थीं।

गोविंद बिष्ट, हल्द्वानी : कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी में नारा दिया। लड़की हूं लड़ सकती हूं। पड़ोसी राज्य होने के नाते इसका असर उत्तराखंड में देखने को भी मिल रहा हूं। फिलहाल 78 महिलाओं ने अलग-अलग सीटों पर दावेदारी ठोंकी है। और अब पार्टी हाइकमान को तय करना है कि इनमें से कितनी लड़ सकती हैं। कांग्रेस की महिला प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य खुद नैनीताल सीट से दावेदार हैं। पिछले चुनाव में कांग्रेस ने आठ महिला उम्मीदवार उतारे थे। जिसमें से दो जीतने में कामयाब रहे। और पांच सीट पर दूसरे नंबर पर रही थीं।

विधानसभा चुनाव को लेकर दावेदारी का आवेदन कांग्रेस में एक माह पहले हो चुका है। प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर 478 लोगों ने दावेदारी ठोंकी हैं। इसमें 78 महिलाएं भी शामिल हैं। जिसमें से कई पूर्व में चुनाव भी लड़ चुकी है। अन्य संगठन के अलग-अलग पदों पर भी हैं। बात अगर पिछले चुनाव की करें तो पांच महिला उम्मीदवार चुनाव जीत विधानसभा में पहुंची थी।

इसमें हल्द्वानी से कांग्रेस की कद्दावर नेता स्व. डा. इंदिरा हृदयेश और भगवानपुर से ममता राकेश शामिल थीं। वहीं, भाजपा के टिकट पर यमकेश्वर से ऋतु खंडूड़ी, गंगोलीहाट से मीना गंगोला और सोमेश्वर से रेखा आर्य चुनावी जीती। वहीं, बाजपुर, चकराता, रुद्रप्रयाग, मसूरी और सल्ट में महिला उम्मीदवार दूसरे नंबर पर रही थी। बदले मिजाज में महिला नेताओं में चुनाव लडऩे को लेकर खासा दिलचस्पी है। देखना यह है कि कांग्रेस यूपी फार्मूले को उत्तराखंड में किस हद तक लागू कर सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close