राष्ट्रीय

मार्च तक तैयार हो सकती है ओमिक्रॉन वेरिएंट के लिए भी वैक्‍सीन

नई दिल्‍ली. दुनिया भर में कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से फैल रहा है. दिनोंदिन कोरोना वायरस के मामले भी उछाल मार रहे हैं. सभी देश कोरोना के खिलाफ टीकाकरण को बढ़ावा देते हुए इसे अहम हथियार मान रहे हैं. इसी बीच दवा निर्माता कंपनी फाइजर ने जानकारी दी है कि वह ओमिक्रॉन वेरिएंट के खिलाफ भी वैक्‍सीन बनाने पर काम कर रही है. उसके अनुसार ये वैक्‍सीन संभवत: मार्च तक उपलब्‍ध हो जाएगी.

एक रिपोर्ट के अनुसार फाइजर कंपनी के सीईओ अल्‍बर्ट बूरला ने कहा है कि फाइजर पहले से ही सरकारों की गहरी दिलचस्पी के कारण वैक्‍सीन का निर्माण कर रही है, क्योंकि कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते मामले चिंता बढ़ा रहे हैं, जिसमें बड़ी संख्या में ओमिक्रॉन मामले भी शामिल हैं. उन्‍होंने कहा है कि यह वैक्‍सीन मार्च में तैयार हो जाएगी. सीईओ का कहना है, ‘मुझे नहीं पता कि हमें इसकी आवश्यकता होगी या नहीं. मुझे नहीं पता कि इसका इस्‍तेमाल किया जाएगा या नहीं.’

बूरला ने कहा कि मौजूदा समय में कोरोना वैक्‍सीन के दो डोज और फिर बूस्‍टर शॉट ने कोरोना वायरस और ओमिक्रॉन के खिलाफ बेहतर सुरक्षा प्रदान की है. लेकिन ओमिक्रॉन वेरिएंट पर सीधे केंद्रित एक वैक्‍सीन एक ऐसे स्ट्रेन के सफल संक्रमण से भी रक्षा करेगा जो अत्यधिक संक्रामक साबित हुआ है, लेकिन इसके परिणामस्वरूप कई हल्के या गैर लक्षणी मामले भी सामने आए हैं.

सीएनबीसी के साथ सोमवार को एक अलग इंटरव्‍यू में मॉडर्ना कंपनी के सीईओ स्टीफन बंसेल ने भी कहा कि उनकी कंपनी एक बूस्टर डोज विकसित कर रही है जो 2022 की सामने आ रहे ओमिक्रॉन समेत कोरोना के अन्‍य वेरिएंट पर असरदार हो सकती है. बंसेल ने बताया, ‘हम बूस्‍टर डोज को लेकर दुनिया भर के स्वास्थ्य नेताओं के साथ चर्चा कर रहे हैं.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close