उत्तराखंड

उत्तराखंड में बर्फबारी का दौर जारी, उमड़ा पर्यटकों का हुजूम; जा‍निए कैसा रहेगा मौसम का हाल

देहरादून। उत्तराखंड में रुक-रुककर बारिश और बर्फबारी का क्रम आज सोमवार को भी जारी रहा। पहाड़ों में पिछले तीन दिनों में भारी बर्फबारी के कारण ऊंचाई वाले इलाके बर्फ से लकदक हो गए हैं। रविवार सुबह बारिश के बाद दोपहर में प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में धूप खिली। ऐसे में प्रमुख पर्यटन स्थलों में बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़ पड़े। भारी बर्फबारी के कारण धनोल्टी-चंबा मार्ग बंद है। जबकि, मलबा आने से कोटद्वार-पौड़ी मार्ग भी दुगड्डा के पास अवरुद्ध हो गया है। नैनीताल में सीजन का दूसरा हिमपात हुआ है और मसूरी में बर्फबारी के आसार बने हुए हैं। औली में भारी बर्फबारी के कारण पर्यटकों को जाने से रोका जा रहा है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, सोमवार को भी पहाड़ों में कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

शनिवार की सुबह शुरू हुआ बारिश-बर्फबारी का सिलसिला रविवार सुबह तक जारी रहा। दिन में मैदानों में धूप खिली, लेकिन पहाड़ों में बादल मंडराते रहे। इस बीच बड़ी संख्या में अन्य राज्यों के साथ ही स्थानीय पर्यटक बर्फ का लुत्फ उठाने पहुंचे। जिससे मसूरी के आसपास धनोल्टी और चकराता दोनों की मार्गों पर लंबा जाम रहा। हालांकि, धनोल्टी से आगे मार्ग शनिवार से ही बंद है। उधर, गंगोत्री व यमुनोत्री मार्ग पर बर्फ हटाने का कार्य जारी है। केदारनाथ और बदरीनाथ धाम में बर्फ की चार फीट मोटी परत जम गई है। दुर्गम क्षेत्रों में अब भी कई गांव का संपर्क कटा हुआ है। कुछ इलाकों में बिजली और संचार सेवा भी ठप है।

औली में सुरक्षा कारणों से पर्यटकों को पहले ही रोक दिया गया है। कुमाऊं के नैनीताल में रविवार सुबह शहर की चोटियों और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में रुक-रुककर हिमपात होता रहा। जिससे यहां दिनभर पर्यटकों का तांता लगा रहा। पिथौरागढ़ में थल-मुनस्यारी मार्ग पर कालामुनि से पातलथौड़ तक हिमपात के चलते मार्ग पांच घंटे बंद रहा। मार्ग से बर्फ हटाने के बाद फंसे वाहन निकाले गए। प्रदेश के ज्यादातर इलाकों का तापमान भी सामान्य से चार से छह डिग्री सेल्सियस तक गिर गया है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, प्रदेश में सोमवार को भी कहीं-कहीं हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

उत्तरकाशी में 35 गांवों का संपर्क कटा

उत्तरकाशी जनपद के ऊंचाई वाले इलाकों में शनिवार सुबह शुरू हुई बर्फबारी रविवार सुबह तक जारी रही। बर्फबारी के कारण जनपद के दो राष्ट्रीय राजमार्ग सहित 15 संपर्क मार्ग भी बंद हो गए। जो मार्ग लोनिवि व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने सुचारू किए उन मार्गों पर चलना भी मुश्किल भरा है। मार्ग बंद होने के कारण अभी भी जनपद के करीब 35 गांव अलग थलग पड़े हुए हैं। इनमें अधिकांश गांवों में ग्रामीण बर्फ को उबाल कर पानी का इंतजाम कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close