उत्तराखंड

नए साल में ज्यादा ढीली होगी आपकी जेब, उत्तराखंड के सरकारी अस्पतालों में महंगा होगा इलाज; इस तरह बढ़ोतरी

देहरादून। सरकारी अस्पतालों में नए साल से इलाज महंगा हो जाएगा। पंजीकरण से लेकर भर्ती शुल्क और तमाम जांच के लिए मरीज को दस प्रतिशत अधिक दाम चुकाने पड़ेंगे। सरकारी अस्पतालों में ओपीडी पर्चा 28 रुपये में बनता है। जिसके लिए मरीज को नए साल से 31 रुपये चुकाने होंगे। इसके अलावा अन्य सभी जांच, आइपीडी शुल्क आदि भी बढ़ जाएगा। दरअसल, प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में पूर्व के एक शासनादेश के तहत यूजर चार्ज में हर साल दस फीसद बढ़ोत्तरी की जाती है। बढ़ा शुल्क एक जनवरी से लागू होगा।

ये होगी बढ़ोतरी

अभी अनुमानित

ओपीडी पर्चा-28-31 रुपये

भर्ती शुल्क-144-158

जनरल वार्ड-57- 63 रुपये

प्राइवेट वार्ड-144-158

पक्का प्लास्टर-855-940

कच्चा प्लास्टर-287-315

अल्ट्रासाउंड-570-627

एक्सरे (चेस्ट)-200-220

सीटी ब्रेन -2035-2238

सीटी अन्य-3109-3420

मेडिकल कालेज में नहीं बढ़ेगा शुल्क

सरकारी अस्पतालों में इलाज महंगा हो जाने का असर मरीज व तीमारदारों पर कितना पड़ेगा, यह तो वक्त बताएगा। यह आशंका है कि दून मेडिकल कालेज अस्पताल पर बोझ जरूर बढ़ जाएगा। दरअसल, दून अस्पताल को वर्ष 2015 में दून मेडिकल कालेज के टीचिंग अस्पताल में तब्दील कर दिया गया था। तब से ही यहां चिकित्सा दरें यथावत हैं। पर अन्य सरकारी अस्पतालों में शुल्क बढ़ता रहा। इससे दून अस्पताल व अन्य चिकित्सालयों के बीच शुल्क की खाई पैदा हो गई है। दून मेडिकल कालेज अस्पताल के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना का कहना है कि सरकारी अस्पतालों में इलाज महंगा होने जा रहा है। इसका असर दून अस्पताल में निश्चित रूप से दिखेगा। इस वजह से अस्पताल में मरीजों की संख्या में वृद्धि होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close