उत्तराखंड

मुसीबत में फंसी बालिकाओं और महिलाओं का मददगार बनेगा गौरा शक्ति एप

रुद्रपुर : मुसीबत में फंसी उत्तराखंड की महिलाओं और बालिकाओं की मदद के लिए पुलिस महकमे ने गौरा शक्ति एप लांच कर दिया है। आपात स्थिति में एप में मौजूद लाल बटन (एसओएस) दबाने के बाद शिकायतकर्ता का नाम, नंबर और लोकेशन पुलिस के कंट्रोल रूम नंबर 112 में पहुंच जाएगी। यहां से नजदीकी थाना और चौकी पुलिस को सूचना देकर तत्काल मदद दिलाई जाएगी।

प्रदेश में भी अब महिला उत्पीडऩ के मामले बढ़ रहे हैं। छेड़छाड़, दुष्कर्म, अपहरण, हत्या, झपटमारी जैसी वारदातें भी आम हैं। पुलिस को पता चलने तक अपराधी भाग निकलते हैं। एसपी क्राइम मिथिलेश ङ्क्षसह ने बताया कि गौरा शक्ति एप के जरिये संकट काल में छात्राओं और महिलाओं को तत्काल मदद मिल सकेगी। इसके लिए मोबाइल फोन के प्ले स्टोर पर जाकर गौरा शक्ति एप डाउनलोड करना होगा। एप में मौजूद लाल बटन दबाते ही पुलिस को पल भर में लोकेशन समेत सारी जानकारी मिल जाएगी।

इंटरनेट पर एप का प्रचार-प्रसार

देहरादून पुलिस मुख्यालय में कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गौरा शक्ति एप लांच किया था। हालांकि प्रचार-प्रसार के अभाव में इस एप की जानकारी नहीं हो पाई है। ऐसे में पुलिस महकमा फेसबुक, ट्विटर समेत इंटरनेट मीडिया के जरिये एप के प्रचार-प्रसार में जुट गया है।

एप में ये हैं सुविधा

  • महिलाएं और बालिकाएं गौरा शक्ति एप में ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज करा सकती हैं।
  • किसी भी आपात स्थिति में तत्काल 112 नंबर पर कॉल कर सकती हैं।
  • शिकायतों पर हुई कार्रवाई की प्रगति के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं।
  • गौरा शक्ति एप के जरिये पुलिस की इंटरनेट मीडिया साइट पर भी संपर्क कर सकते हैं।
  • एप से निकटतम पुलिस थाना और चौकी के बारे में जानकारी कर सकते हैं।
  • एप से महिलाओं से जुड़ी कानूनी अधिकार की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close