उत्तराखंड

दस मार्च को तुरंत राजस्थान रवाना हो सकते हैं कांग्रेस विधायक

देहरादून। Uttarakhand Election 2022 कांग्रेस 10 मार्च को मतगणना के तुरंत बाद अपने नवनिर्वाचित विधायकों को राजस्थान रवाना कर सकती है। हालांकि, यह कदम केवल त्रिशंकु विधानसभा अथवा विधानसभा में बहुमत के आंकड़े के समीप पहुंचने की स्थिति में उठाने की तैयारी है। स्पष्ट बहुमत मिलने और प्रतिद्वंद्वी भाजपा से जीत का फासला ज्यादा होने की स्थिति में कांग्रेस अपने विधायकों को बाहर भले ही न भेजे, लेकिन उन्हें एक साथ जरूर रखा जाएगा।

बीते रोज एक्जिट पोल में आए रुझानों के बाद कांग्रेस अब बदली हुई रणनीति पर काम कर रही है। राष्ट्रीय नेतृत्व की ओर से उत्तराखंड के लिए नामित पर्यवेक्षकों सांसद दीपेंद्र हुड्डा व एमबी पाटिल और प्रदेश प्रभारी मंगलवार को देहरादून पहुंचे। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल की मौजूदगी में पार्टी के अन्य पदाधिकारियों के साथ मंथन किया। 14 फरवरी को मतदान के बाद से उत्साहित कांग्रेस एक्जिट पोल के रुझान से सकते में भी है। त्रिशंकु विधानसभा की सूरत में सबसे बड़े विधायक दल की सूरत में पार्टी की संभावित रणनीति पर दिग्गजों ने चर्चा की।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close