राष्ट्रीय

बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान जवाद को लेकर आंध्र-ओडिशा में अलर्ट, PM मोदी ने की बैठक, जानें कहां-कहां होगा असर

Cyclone Jawad: बंगाल की खाड़ी से फिर उठा चक्रवाती तूफान जवाद कल यानी शनिवार को आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा. इसको लेकर आंध्र प्रदेश, ओडिशा, बंगाल में हाई अलर्ट जारी किया गया है. आपदा टीमें तैनात कर दी गई हैं और 95 ट्रेनों का परिचालन भी रद्द कर दिया गया है. बंगाल की खाड़ी में उठे जवाद तूफान का खतरा कितना बड़ा इसका अंदाजा आप अंदाजा लगाया जा सकता है कि खुद प्रधानमंत्री देश की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. पीएम मोदी ने जवाद तूफान से निपटने के लिए समीक्षा बैठक बुलाई और तैयारियों का जायजा लिया. इस बैठक में कैबिनेट सचिव राजीव गाउबा और NSA अजिल डोभाल समेत कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए.

कल तट से टकरा सकता है जवाद तूफान
मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक जवाद तूफान के तट से टकराने के बाद शनिवार की सुबह हवा की गति 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है. इससे आंध्र प्रदेश, ओडिश और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की आशंका जताई गई है. जवाद के खतरे को देखते हुए ओडिशा के चार जिले- गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है जबकि और बाकी के सात जिलों- केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगड़ा, कोरापुट जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है

गृह मंत्रालय की तूफान पर 24 घंटे नजर
जवाद तूफान को लेकर गृह मंत्रालय भी 24 घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है. सभी तटीय राज्यों में एनडीआरएफ की कुल 29 टीमों को पहले से तैनात कर दिया है. जबकि 33 एनडीआरएफ टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है. मछुआरों से भी जल्द से जल्द तट पर लौटने के लिए कहा गया. तूफान के बाद की स्थिति से निपटने के लिए भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने जहाज और हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं. स्थिति को देखते हुए जरूरत पड़ने पर थल सेना और वायु सेना की भी मदद ली जाएगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close